Navjat Shishu Ke Pet Dard Ka ilaj- शिशुओं में पेट-दर्द के आसान और प्रभावी घरेलू उपचार

 नवजात शिशु का पेट दर्द होने के कारण और उपाए 

Navjat Shishu Ke Pet Dard Ka ilaj- शिशुओं में पेट-दर्द के आसान और प्रभावी घरेलू उपचार


नवजात शिशु को पेट में दर्द  कई तरह के हो सकते  हैं,अगर आपका शिशु ठीक ढग से खाना नहीं खाता या दूध पीते  समय बिच-बिच में छोड़ दे तो, पेट दर्द का लक्षण हो सकते  हैं|

नवजात शिशु  अगर पेट पर बार-बार हाँथ फेरे, तो भी पेट दर्द की वजह हो सकती हैं| आपका शिशु अगर दर्द को बताते हुए अपने पैरों को पेट की तरफ मोडे तो भी दर्द की वजह हो सकती हैं|

नवजात  शिशु के पेट की मांसपेशियों टाईट  हो जाती हैं, जिस वजह से उसे पेट में दर्द  होता हैं, अगर ऐसा हो तो शिशु के पेट पर हाँथ भी लगायेगे तो भी उसका पेट दर्द होगा, और वो रोने लगे तो पेट दर्द की वजह हो सकती हैं|

अपक शिशु रोज से ज्यादा रो रहा हो तो भी पेट दर्द की वजह हो सकती हैं, ऐसे सभी कारण केवल पेट दर्द का ही संकेत का इशारा करता हैं, अगर कभी भी आपके शिशु के साथ ये सब के लक्षण दिखाई दे तो,डॉक्टर को जरुर दिखाए, क्योंकी ये सब एक गंभीर बीमारी की तरफ का इशारा करता हैं|

नवजात शिशु के पेट दर्द में क्या आहार दे 

Navjat Shishu Ke Pet Dard Ka ilaj- शिशुओं में पेट-दर्द के आसान और प्रभावी घरेलू उपचार


जब आपका शिशु 6 महीने से ज्यादा का हो जाये तो उन्हें खिलाना-पिलाना शुरू कर देना चाहियें, क्यों की उन्हें कुछ खाने पिने वाली जो चीजे होती जो उनके खाने में फायदा करती हैं|

स्तनपान 

वैसे तो माँ के दूध में ही शिशु का सारा जरुरी पोशक्त्त्व होते हैं, शिशु को माँ का दूध पिने से पाचन तंत्र अच्छी तरह काम करता हैं,औ उनका पेट भी ठीक रहता हैं|अगर माँ का दूध न बने, तो ही कुछ भी खिलाना-पिलाना चाहिए|

जैसे-सब्जियों का सूप,फलों की पतली प्यूरी,बेबी सिरिल, अगर  आपका शिशु 6 महीने से जादा उम्र का हो,तो  उसे घर का बना सब्जियों का सूप पिला सकते हो|

नवजात शिशु के पेट दर्द का घरेलू इलाज 

गैस की समस्या 

अगर आपका शिशु स्तनपान करने वाला हो तो शिशु की पेट में गैस की वजह से पेट दर्द हो सकता हैं| इसलिए माँ को कैसा भी खाना नहीं खाना चाहिए, अपने शिशु की देखभाल के लिए क्या फायदा हैं क्या नुक्सान ये सब देख के भोजन का सेवन करे, खासकर जैसे-मेटर, मैथी, मसालेदार चीजे,तीखा आदि ऐसा सब कुछ नहीं खाना चाहिए|

शिशु को डकार दिलाना 

अगर आपका शिशु हद से ज्यादा रो रहा हो तो स्तनपान करने के तुरंत बाद कंधे से लगाकर पेट के निचले भाग व पीठ पर धीरे-धीरे हल्के हांथो से थपथपाए| ताकि गैस न बने और शिशु को डकार भी आ जाये|

शिशु को गुनगुना पानी से नहालायें 

नवजात शिशु को गुनगुना पानी से रोज नहलाये , गुनगुना पानी से पेट दर्द कम होता हैं, जब आप शिशु को नहलाते हो तो बड़ा टप में बैठा कर उसका पेट तक पानी रहना चाहिए , गुनगुना पानी से शिशु के पेट दर्द की समस्या कम हो सकती हैं|

शिशु को गुनगुना पानी पिलाएं 

अगर आपका शिशु 6 महीने से बड़ा हैं,  तो  शिशु को गुनगुना पानी पिलाएं, ये गर्म गुनगुना पानी पिलाने से शिशु को कोई भी तरह का साइडइफेक्ट नहीं होगा , और पेट दर्द भी ठीक रहेगा|

शिशु को पेट दर्द हो तो हिंग खिलाएं 

आपका शिशु अगर ज्यादा परेशान हैं, पेट दर्द से, तो थोडा सा चम्मच में हिंग को भीगा कर पेट की नाभि को जगह लगाकर हलकी हांथों से पेट पर फैला कर मालिश करे, तथा थोडा सा हिंग भिगाया हुआ शिशु को खिला दे, इससे उसको पेट के दर्द को आराम मिलेगा|

नवजात शिशु को पेट दर्द  न हो इसके लिए क्या करे 

आपका शिशु स्वस्थ और तन्दुस्त रहे तथा कोई बीमारी ना हो उसे, इसलिए बहुत सावधानिय बरतनी पड़ती हैं|

1-स्वच्छ और साफ़ भोजन दे 

2-एलर्जी से शिशु को बचाएँ 

3-शिशु को अच्छे से दूध पिलाएं 

4-शिशु को स्वच्छता पर बहुत ध्यान दे 

5-गैस बनने वाले भोजन शिशु को न दे 

आदि सब बातो का ध्यान दे तो नवजात शिशु के को पेट दर्द  की समस्या नहीं आयेगी | 


New Mobile Redmi Note 9 Pro